सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) बेटियों के बहतर भविष्य के लिए योजना

आज हम आपको केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई एक योजना से संबंधित जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। जिसका नाम सुकन्या समृद्धि योजना है।

इस योजना के माध्यम से लाभार्थी द्वारा निवेश करके एकमुश्त राशि बेटी की शिक्षा या फिर शादी के लिए प्राप्त की जा सकती है। इस योजना से संबंधित सभी जरुरी जानकारी आप को दी जाएगी।

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) बेटियों के भविष्य को उज्जवल एवं सुरक्षित बनाने के लिए सरकार द्वारा इस योजना का संचालन किया जाता है।

इस बचत योजना पर इनकम टैक्स छूट एवं उच्चतर ब्याज दर प्रदान कि जाती है। जिससे कि लोग इस योजना में निवेश करने के लिए प्रोत्साहित हो सके और बेटियों का भविष्य सुरक्षित हो सके।

इस आर्टिकल में हम आप को सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) का उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि की जानकारी देंगे।

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) बेटियों के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है। जिसे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत लांच किया गया है। छोटी बचत स्कीम में सुकन्या समृद्धि योजना सबसे बेहतर ब्याज देने वाली योजना है।

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) के माध्यम से आप अपनी बेटियों का भविष्य सुरक्षित कर सकते हैं। इस योजना में माता-पिता या अभिभावक केवल बेटी के नाम पर खाता खोल सकते हैं। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत आप किसी भी डाकघर या बैंक की शाखा जाकर यह खाता खोल सकते हैं।

इस योजना में कितना पैसा जमा कर के कितना फायदा मिल सकता है इसके लिए हमने आप की आसानी के लिए इसका SSY Calculator (सुकन्या समृद्धि योजना) बनाया है। इसका लिंक नीचे दे रहे है आप इसको Use कर सकते है।

SSY Calculator

SSY Calculator

SSY Calculator

सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य

इस योजना का उद्देश्य लड़कियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ाना और विवाह योग्य होने पर पैसो की कमी न आने देना। देश के गरीब लोग बचत खाते में अपनी बेटी की पढाई और शादी में होने वाले खर्च को आसानी से पूरा कर सकते है।

आप अपनी बेटी का खाता कम से कम 250 रूपये में किसी भी बैंक में खुलवा सकते है।

सुकन्या समृद्धि योजना से देश की बेटियों को प्रोत्साहन मिलेगा और वह आगे बढ़ पायेगी इस योजना के ज़रिये बेटियों की भ्रूण हत्या को रोकने में भी मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें : शेयर मार्किट की शब्दावली

कहां खुलेगा सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट

आप अपने आस-पास किसी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में खोला जा सकता है। साथ ही, खाता खुलने के 21 साल तक या बेटी के 18 साल के होने तक इसे चालू रखा जा सकता है। इसके बाद, बेटी के 18 साल की होने पर हायर एजुकेशन के लिए इस खाते से 50% तक रकम निकाली जा सकती है।

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अकाउंट किसी बच्ची के जन्म लेने के बाद 10 साल से पहले की उम्र में कम से कम 250 रुपये के जमा के साथ खोला जा सकता है। इस फिस्कल ईयर में सुकन्या समृद्धि योजना के तहत जयादा से जयादा 1.5 लाख रुपये तक सालाना जमा कर सकते हैं।

फिलहाल इस पर 7.6 फीसदी ब्याज मिल रहा है। इस स्कीम में कोई भी शख्स अपनी दो बेटियों के लिए अकाउंट खुलवा सकता है। 21 साल की उम्र में बेटियां इस अकाउंट से पैसा निकाल सकती हैं। इस स्कीम में 9 साल 4 महीने में रकम डबल हो जाएगी।

कितनी उम्र तक खुलवा सकते हैं बेटी का अकाउंट

सुकन्‍या समृद्धि योजना में आप अपनी बेटी का अकाउंट उसके पैदा होने से लेकर 10 साल से कम उम्र तक कभी खुलवा सकते हैं। इस अकाउंट को 250 रुपए के सालाना मिनिमम प्रीमि‍यम पर खोला जा सकता है। जब इस स्‍कीम की शुरूआत की गई थी तो 1000 रुपए सालाना मिनिमम प्रीमियम भुगतान करना होता था। वहीं इसकी मैक्‍सीमम लिमिट 1.5 लाख रुपए सालाना है।

यह भी पढ़ें : शेयर मार्केट का गणित

सुकन्या समृद्धि योजना में कौन - कौन से डॉक्यूमेंट्स चाहिए

इस योजना के तहत खाता खोलने के लिए आपको फॉर्म के साथ अपनी बेटी का जन्म प्रमाण पत्र डाकघर या बैंक में जमा करना होगा। इसके अलावा बच्चे और माता-पिता का पहचान पत्र (पैन कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट) और वे कहां रह रहे हैं इसका प्रमाण (पासपोर्ट, राशन कार्ड, बिजली बिल, टेलीफोन बिल, पानी का बिल) देना होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना में कितनी बेटियों को लाभ मिल सकता है

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत केवल एक परिवार की दो बेटियों को ही लाभ मिल सकता है। यदि एक परिवार में 2 से अधिक बेटियां हैं तो इस योजना का लाभ केवल उस परिवार की दो बेटियां ही उठा सकते हैं।

लेकिन यदि किसी परिवार में जुड़वा बेटियां हैं तो उन्हें इस योजना का लाभ अलग-अलग मिलेगा यानी कि फिर उस परिवार की तीन बेटियां लाभ उठा पाएंगी।

जुड़वा बेटियों की गिनती एक ही होगी लेकिन उनको लाभ अलग-अलग दिया जाएगा।इस योजना के अंतर्गत वह सभी लोग अपनी बेटी का खाता खोल सकते हैं।

जो अपनी बेटी की शादी तथा पढ़ाई के लिए पैसा जमा करना चाहते हैं। आपको बता दें इस योजना के अंतर्गत 10 साल से कम की आयु की कन्याओं का खाता खोला जा सकता है।

मेच्योरिटी पर मिलेंगे 15 लाख रुपये से ज्यादा

अगर आप इस स्कीम में हर महीने 3000 रुपये का निवेश करते हैं यानी सालान 36000 रुपये पर आपको 14 साल बाद 7.6 फीसदी सालाना कंपाउंडिंग के हिसाब से 9,11,574 रुपये मिलेंगे। 21 साल यानी मेच्योरिटी पर यह रकम करीब 15,22,221 रुपये हो जाएगी।

सुकन्या समृद्धि योजना में टैक्स छूट का लाभ

सुकन्या समृद्धि योजना में जमा की जाने वाली रकम पर सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक का टैक्स डिडक्शन क्लेम किया जा सकता है। इसके अलावा जमा राशि पर आने वाला ब्याज और मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने पर मिलने वाला पैसा भी टैक्स फ्री है। इस तरह SSY ‘EEE’ कैटेगरी की टैक्स सेविंग स्कीम है।

अगर आप किसी साल सुकन्या समृद्धि योजना खाते में न्यूनतम राशि जमा करना भूल जाते हैं तो आपका खाता बंद हो जाएगा। लेकिन 50 रुपये की पेनल्टी फीस के साथ यह खाता दोबारा चालू किया जा सकता है। 50 रुपये पेनल्टी फीस के साथ खाताधारक को वह राशि जिससे उसने खाता खुलवाया है, जमा करनी

यह भी पढ़ें : हाई रिटर्न के लिए सोने में कब और कैसे निवेश करें

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ट्रांसफर

सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट देशभर में कहीं भी ट्रांसफर हो सकता है, अगर खाताधारक खाता खोलने की मूल जगह से कहीं और शिफ्ट हो गया हो। अकाउंट ट्रांसफर फ्री ऑफ कॉस्ट है, हालांकि इसके लिए एकाउंट होल्डर या उसके माता-पिता/अभिभावक के शिफ्ट होने का सबूत दिखाना पड़ेगा।

अगर इस तरह का कोई सबूत नहीं दिखाया गया तो अकाउंट ट्रांसफर के लिए पोस्ट ऑफिस या बैंक को 100 रुपये फीस चुकाना पड़ेगा जहां खाता खोला गया है। जिस बैंक या पोस्ट ऑफिस में कोर बैंकिंग सिस्टम की सुविधा है, वहां सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट ट्रांसफर इलेक्टॉनिक तरीके से हो सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना से संबंधित कुछ शर्तें भी हैं

  • अगर खाताधारक की शादी खाता खोलने के 21 साल पूरे होने से पहले हो जाती है तो खाते में रकम जमा नहीं कराई जा सकती।

  • अगर खाता 21 साल पूरा होने से पहले बंद कराया जा रहा है तो खाताधारक को यह एफिडेविट देना पड़ेगा कि खाता बंद करने के समय उसकी उम्र 18 साल से कम नहीं है। मैच्योरिटी के समय पासबुक और विथड्रावल स्लिप पेश करने पर खाताधारक को ब्याज सहित जमा रकम वापस हो जाएगी।

  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता सिर्फ भारतीय नागरिक का खोला जा सकता है, जो यहीं रह रहा हो और मैच्योरिटी के वक्त भी यहीं रह रहा हो। अप्रवासी भारतीय सुकन्या समृद्धि योजना में खाता नहीं खोल सकते।अगर खाता खोलने के बाद गर्ल चाइल्ड किसी और देश में चली जाती है और वहां की नागरिकता ले लेती है तो नागरिकता लेने के दिन से सुकन्या समृद्धि योजनाखाते में जमा रकम पर ब्याज मिलना बंद हो जायेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना के मुख्य तथ्य

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं सुकन्या समृद्धि योजना को सरकार द्वारा बेटियों के भविष्य को सुरक्षित रखने और उनकी पढ़ाई तथा शादी के लिए आरंभ किया गया है।

इस योजना के अंतर्गत निवेश करके बेटी के भविष्य को सुरक्षित किया जा सकता है। इस योजना की कुछ विशेषताएं है जो की कुछ इस प्रकार है।

  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 10 साल से कम उम्र की बेटी का अकाउंट खुलवाया जा सकता है।

  • अकाउंट किसी भी पोस्ट ऑफिस या फिर बैंक में खुलवाया जा सकता है।

  • इस योजना के अंतर्गत एक परिवार की अधिकतम दो बच्चों का अकाउंट खुलवाया जा सकता है।

  • कुछ विशेष परिस्थितियों में एक परिवार की तीन बच्चों का अकाउंट भी खुलवाया जा सकता है।

  • इस योजना के अंतर्गत नियुन्तम ₹250 में अकाउंट खुलवाया जा सकता है।

  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 1 वित्त वर्ष में नियुन्यम ₹250 का निवेश तथा अधिकतम ₹1.5 लाख रुपए का निवेश किया जा सकता है।

  • इस योजना के अंतर्गत 7.6% ब्याज दर निर्धारित की गई है।

  • सेक्शन 80C इनकम टैक्स अधिनियम के अंतर्गत इस योजना के अंतर्गत टैक्स छूट भी मिलती है।

  • इस योजना के माध्यम से मिलने वाला रिटर्न भी टैक्स फ्री है।

  • बेटी की उच्च शिक्षा के लिए भी सुकन्या समृद्धि योजना से 50% की रकम निकाली जा सकती है।

यह भी पढ़ें : इन्वेस्टमेंट, निवेश क्या है ? निवेश किसे कहते हैं?

सुकन्या समृद्धि योजना से संबंधित प्रश्न और उत्तर

सुकन्या समृद्धि योजना में बच्चे की उम्र कितनी होनी चाहिए?

योजना के तहत माता-पिता या कानूनी अभिभावक बेटी के जन्म लेने के बाद 10 साल से पहले की उम्र तक उसके नाम से अकाउंट खोल सकते हैं। उसका संचालन बेटी के 10 वर्ष होने तक कर सकते हैं। लॉन्ग टर्म स्कीम और कंपाउंड इंटरेस्ट की वजह से निवेश के तरीके पर भी ध्यान देना चाहिए ताकि एक निश्चित समय के बाद ज्यादा रिटर्न मिल सके।

इस योजना में पैसे कब तक जमा करना होगा ?

इस योजना में खास बात ये है की इसमें आप को शुरू के 15 साल ही पैसे जमा करने होंगे। आखिर के 6 साल में आप की इंटरेस्ट फिर भी मिलता रहेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना की लास्ट डेट क्या है?

सरकार की ओर से सुकन्या समृद्धि योजना का खाता खोलने के लिए जारी मानदंडों में भी छूट की घाेषणा की गई है। डाक विभाग के नए दिशा-निर्देश के अनुसार सुकन्या समृद्धि योजना का खाता 30 Nov तक उन बेटियों के नाम से खोला जा सकता है जिनकी उम्र इस अवधि में 10 वर्ष पूरी न हुई हो।

अधिक जानकारी के लिए : सुकन्या समृद्धि योजना 2021

सुकन्या समृद्धि योजना में आयु कितनी होनी चाहिए?

योजना के मुताबिक बेटी की 10 साल तक की आयु तक उसके कानूनी अभिभावक या माता-पिता उसके नाम पर अकाउंट खुलवा सकते हैं। सरकार की अधिसूचना के मुताबिक सुकन्या समृद्धि योजना के तहत किसी भी डाकखाने और सरकारी बैंक में अकाउंट खुलवाया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना में ब्याज दर क्या है?

सुकन्या समृद्धि योजना पर ब्याज दर 7.6 फीसदी सालाना हो गई है. बता दे कि पिछली तिमाही (April-June 2021) के लिए इस योजना की ब्याज दर को 7.6 फीसदी से 6.9 फीसदी कर दिया गया था, लेकिन 24 घंटे के अंदर सरकार ने पुरानी ब्याज दरें लागू करने का फैसला ले लिया। यह सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाली सरकारी स्कीम्स में से एक है।

सुकन्या समृद्धि योजना के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट चाहिए?

चालू वित्त वर्ष में सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अधिकतम 1.5 लाख रुपये जमा कराये जा सकते हैं। खाता खुलवाने के लिए आपको फॉर्म के साथ पोस्ट ऑफिस या बैंक में अपनी बेटी का बर्थ सर्टिफिकेट जमा कराना होगा। इसके अलावा बच्ची और माता-पिता का पहचान पत्र, जैसे-पैन कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट देना होगा।

सुकन्या योजना का खाता कैसे खोलें?

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता किसी पोस्ट ऑफिस या कमर्शियल ब्रांच की अधिकृत शाखा में खोला जा सकता है। इस योजना के तहत अकाउंट बच्ची के जन्म लेने के बाद 10 साल से पहले की उम्र में कम से कम 250 रुपये जमा के साथ खोला जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना में ऑनलाइन पेमेंट कैसे करे?

इसके लिए सबसे पहले अपने बैंक खाते से IPPB खाते में पैसे जोड़ें। इसके बाद DOP Products पर जाएं, जहां आपको सुकन्या समृद्धि खाता दिखाई देगा और आप उसका चयन कर लें। अपना SSY अकाउंट नंबर और फिर DOP कस्टमर आईडी लिखें। इसके बाद सामान्य पेमेंट प्रोसेस की तरह किस्त की अवधि और राशि चुनें।

सुकन्या समृद्धि अकाउंट का बैलेंस कैसे चेक करें?

यदि आपने इंडिया पोस्ट ऑफिस में अपना Sukanya Samriddhi Yojana खाता खोला है । तो वर्तमान में ऑनलाइन खाते में शेष राशि की जांच करने का कोई तरीका नहीं है । बैलेंस चेक करने के लिए आपको अपनी पासबुक अपडेट करवाने के लिए डाकघर शाखा जाना होगा ।

सुकन्या समृद्धि योजना से पैसा कैसे निकालें?

सुकन्या समृद्धि योजना का खाता 21 साल में mature हो जाता है। यानी खाता खुलवाने के बाद 21 साल तक पैसे का इंतजार करना पड़ेगा। यानी बच्ची के पैदा होने बाद जितनी जल्दी खाता खुलवा लेंगे अच्छा रहेगा। ध्यान रखें maturity के बाद पैसा लड़की के खाते में ही जाएगा।

सुकन्या समृद्धि योजना में 500 जमा करने पर कितना मिलेगा?

इस बचत स्कीम पर अब 7.6 प्रतिशत का ब्याज मिल रहा है। बता दें इसमें रिटर्न तो बेहतर मिलेगा लेकिन इस पर टैक्स की छूट नहीं मिलती है।

सुकन्या योजना कब तक चलेगी?

यदि लड़की का विवाह 21 वर्ष पुरे होने के पहले हो जाता है तो खाता अपने-आप बंद हो जाएगा। खाता खोलने की तारीख से 14 वर्ष तक रकम जमा की जाएगी।

सुकन्या समृद्धि योजना में रेट ऑफ इंटरेस्ट कितना है?

सरकार ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं अभियान के तहत सुकन्या समृद्धि योजना की शुरू किया था। इसमें पैसे जमा करने पर आपको वर्तमान में 7.6 फीसदी तक का ब्याज मिलता है।

Copyright

Comments