इन्वेस्टमेंट, निवेश क्या है ? निवेश किसे कहते हैं?

इन्वेस्टमेंट क्या होता है

इन्वेस्टमेंट यानी कि निवेश जिसमें हम अपनी कोई भी चीज कुछ समय के लिए लगाते है जिसमे आगे आने वाले समय में उससे और ज्यादा फायदा होने की उम्मीद करते हैं उसको इन्वेस्टमेंट कहते हैं।

इन्वेस्टमेंट में समय पैसा या कोई भी और ऐसी चीज जिसको कि उस वक्त में अपने लिए इस्तेमाल ना करके उसको Block कर के रख दें इस उम्मीद में कि आने वाले टाइम में उससे और ज्यादा नफा होगा।

इन्वेस्टमेंट को सही से समझाने के लिए यहां पर हम कुछ मिसाल दे रहे हैं जिससे कि आप आसानी से समझ सकते हैं

अखिरत की इन्वेस्टमेंट

यह इन्वेस्टमेंट में सबसे best इन्वेस्टमेंट है। आखिरत यानी कि मरने के बाद का इन्वेस्टमेंट जिसमें की हम आज किसी को कुछ पैसे की मदद करके या उसकी सेवा करके या उसकी कुछ परेशानी दूर करके हम यह उम्मीद करते हैं कि इसका हमें सवाब मिलेगा।

यह सवाब की उम्मीद करना 1 तरीके से इन्वेस्टमेंट ही है अगर हमें सवाब की उम्मीद ना हो तो कोई भी अपना पैसा या और किसी भी चीज से किसी की मदद नहीं करेगा हम जब सवाब की नियत से मदद करते हैं तो यह एक इन्वेस्टमेंट है।

अखिरत में जब कोई भी सिक्का नहीं चलेगा तब नेकियों का सिक्का चलेगा उस वक्त हमे अपने किये हुए सभी इन्वेस्टमेंट में ये बात याद आएगी की काश हमें दुनिया में और कोई इन्वेस्टमेंट ना किया होता सिवाए अखिरत के जब उस वक्त कुछ भी काम न आएगा।

इस लिए हम सभी को चाहिए कि अपने लिए कुछ न कुछ जरूर ऐसा काम कर ले जो मरने के बाद काम आए।

खेती में इन्वेस्टमेंट

खेती करना भी एक इन्वेस्टमेंट है जिसमें किसान बीज को जमीन में इसलिए डालता है कि आगे चलकर उस बीज से और बहुत सारे फूल फल निकलेंगे अगर किसान को यह उम्मीद ना रहे कि इस बीज से कुछ फल निकलेगा तो

वह उस बीज को जमीन में डालकर इन्वेस्टमेंट नहीं करेगा, वह करता है तो इसी उम्मीद में कि यह बीज मई मिटटी में डाल कर इससे बहुत सारे फल फूल मिलेंगे जिसका उसको फायदा मिलेगा।

तालीम में इन्वेस्टमेंट

तालीम यानी कि पढ़ाई लिखाई इसमें हम अपने बच्चों को बचपन से पढ़ने लिखने के लिए बोलते हैं और यह चाहते हैं कि वह पढ़ लिख कर के कामयाब हो। मां बाप किसी भी तरह की तकलीफ उठा कर भी अपने बच्चों को इस उम्मीद में पढ़ाते हैं कि वह पढ़ लिख कर कामयाब हो जाएंगे जिससे उनको फायदा होगा तो यह भी एक तरीके का इन्वेस्टमेंट है।

वक्त का इंवेस्टमेंट

जब कोई कहीं पर नौकरी करता है तो वह दरअसल अपने वक्त को वहां पर लगा रहा है और उसके बदले में कुछ फायदा यानी कि पैसा लेता है तो यह एक तरीके का इन्वेस्टमेंट है।

जिसमें इंसान अपने वक्त को लगाता है और उसके बदले में उसका कुछ फायदा उठाता है यानी कि उसकी कीमत लेता है जिसका वक्त जितना ज्यादा कीमती होगा उसको उतना ज्यादा उसका पैसा या फायदा भी मिलता है।

इतनी मिसाल के बाद अब उम्मीद है की इन्वेस्टमेंट किसे कहते है आप समझ गए होंगे। अब आगे बात करते है की इन्वेस्टमेंट कितने तरह का होता है

इन्वेस्टमेंट कितने तरह का होता है

ऊपर दी गई मिसाल में कुछ इन्वेस्टमेंट के बारे में आप जान गए होंगे अब आगे कुछ और इन्वेस्टमेंट जो बाकी रह गए हैं उनके बारे में देख लेते हैं।

गोल्ड में इन्वेस्टमेंट

गोल्ड में इन्वेस्टमेंट यह तो सभी लोग जानते ही होंगे हम बचपन से यह देखते हैं कि हमारी अम्मी और खाला फूफी के पास सोने के गहने होते है। जो वह बहुत ही संभाल कर रखती हैं कि कभी वक्त जरूरत पर काम आएगा। इसके बारे में हम आगे तफ्सील से बात करेंगे।

बिजनेस में इन्वेस्टमेंट

बिजनेस के बारे में हम सभी को मालूम है कि कोई भी बिजनेस बिना पैसा लगाए नहीं होता तो बिजनेस में शुरू में जो पैसा लगाते हैं वह हमारा इन्वेस्टमेंट होता है जिसमें कि आगे चलकर उस पैसे से हमें कई गुना ज्यादा फायदा हो सकता है लेकिन यह तब होगा जब हम बिजनेस को सही तरीके से कर पाए वरना इसका उल्टा नुकसान भी हो सकता है।

रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट

रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट यह भी हम बचपन से जानते हैं जब हमारे वालिद दादा या और कोई अपने वक्त पर जमीन खरीद लेते थे तो बाद में उसकी कीमत काफी ज्यादा बढ़ जाती थी यह एक बहुत ही अच्छा इन्वेस्टमेंट साबित होता है। जिसका फायदा आने वाली नस्ल को भी मिलता है।

शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट

शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट यह एक अच्छा लेकिन थोड़ा रिस्की इन्वेस्टमेंट होता है इसके बारे में हम लोग आने वाले आर्टिकल में बहुत ही तफ्सील से जानेंगे की शेयर मार्केट में कैसे इन्वेस्ट करें क्या गलती होती है कि जो ना करें पूरी तहसील से जानेंगे।

म्युचुअल फंड इन्वेस्टमेंट

म्युचुअल फंड इन्वेस्टमेंट यह एक शेयर बाजार का ही हिस्सा होता है बस इसमें रिस्क थोड़ा कम होता है क्योंकि यह एक मैनेजर के द्वारा बहुत सरी कंपनी में पैसे लगाए जाते हैं जिसको की एक मैनेजर अपने हिसाब से उसको मैनेज कर रहा होता है तो इसलिए यह शेयर मार्केट में जिसको कम जानकारी हो उसके लिए बहुत अच्छा होता है इसकी भी तफ्सील आगे जानेंगे।

बैंक में इन्वेस्टमेंट

बैंक में इन्वेस्टमेंट आमतौर पर यह बहुत ही ज्यादा मशहूर और आसान इन्वेस्टमेंट माना जाता है जिसमें लोग बैंक में एफडी कराते हैं लेकिन यह सबसे खराब इन्वेस्टमेंट होता है इसमें सिर्फ बैंक का फायदा होता है।

और जो बैंक में एफडी कर रहा है उसका कोई भी फायदा नहीं होता क्योंकि जितनी बैंक में रिटर्न मिलता है उससे ज्यादा महंगाई बढ़ चुकी होती है लेकिन वह इतना कैलकुलेशन नहीं करता तो जिससे पता भी नहीं चलता और वह आगे भी बैंक में एफडी करता रहता है।

और उसके पैसे पर कोई भी रिटर्न नहीं मिल रहा होता इस इन्वेस्टमेंट को हम कभी भी रिकमेंड नहीं करते क्योंकि एक तो इसमें करने वाले का फायदा नहीं है दूसरे इसमें सूद ब्याज का मामला भी है जो कि हमें नहीं करना चाहिए तो बस यहां पर यह जाने कि बैंक में एफडी नहीं करनी चाहिए।

इन्वेस्टमेंट क्यों करना चाहिए

जैसा कि हम उपर बात कर चुके है इन्वेस्टमेंट कितने तरह का होता है। उससे आप समझ गए होगे की इन्वेस्टमेंट करे या न करे वो अपने आप भी हो जाता है। अगर हम समझ बूझ कर इन्वेस्टमेंट करेगे तो उसका फायदा जायदा मिलेगा वरना जाने अंजाने इन्वेस्टमेंट तो होही जाता है।

इन्वेस्टमेंट को समझ बूझ कर ना करना एक बेवकूफी है जिसका खामियाजा आज नही तो कल भुगतना पड़ेगा।

मिसाल के लिए अगर बचपन में किसी बच्चे ने पढ़ाई के वक्त अच्छे से पढ़ाई नहीं की तो फिर आगे चलकर उसको हर जगह उसका नुकसान उठाना पड़ता है।

इसी तरह अगर किसी किसान ने अच्छा बीज जमीन में नहीं डाला और या बीज तो अच्छा डाला लेकिन उसके बाद उसकी देखभाल नहीं की तो उसको कुछ भी हासिल नहीं होता शिवाय उसकी मेहनत बर्बाद होने के तो जैसे यह सब चीजें हमें समझ में आती है उसी तरह हमें इन्वेस्टमेंट को भी समझना चाहिए।

इन्वेस्टमेंट सही है या गलत

वैसे तो इन्वेस्टमेंट बहुत ही अच्छी चीज और बहुत ही जरूरी चीज है लेकिन जैसे कि कोई भी चीज ओवरडोज नुकसान करती है उसी तरह अगर हम अपना सब कुछ ही इन्वेस्टमेंट में लगा दे तो फिर वह भी हमारे लिए नुकसान ही करेग ।

जैसे हमारे पास 100 रूपए हो और पूरा पैसा हम इन्वेस्ट कर दें तो फिर हम खाएंगे क्या हमें इन्वेस्टमेंट में अपना बचत का पैसा लगाना चाहिए बस इसमें कोशिश यह करें कि हम बचत को ज्यादा से ज्यादा कर सके।

मिसाल के लिए जैसे किसान अपनी पैदा की हुई फसल में से कुछ बीज को बचा कर रख लेता है कि इसको अगली बार फिर से जमीन में डालना है वह यह नहीं करता कि जितना हुआ है सभी को ही जमीन में डाल दें यह करना बेवकूफी भी होगी।

इसी तरह हमें इन्वेस्टमेंट में अपनी बचत को ही इन्वेस्ट करना चाहिए और कोशिश करनी चाहिए कि अपनी जरूरतों को पूरी करने के बाद ज्यादा से ज्यादा बचत करें।

इन्वेस्टमेंट करने का एक फायदा यह भी है कि आप फिजूलखर्ची से भी बच सकेंगे जब आप इन्वेस्टमेंट करना सीख जाएंगे तो आप फिज़ूलखर्ची नहीं करेंगे बल्कि वही पैसा या अपना वक्त इन्वेस्ट करके उसका और ज्यादा फायदा उठा पाएंगे।

इन्वेस्टमेंट करने के फायदे

कोई भी इंसान कोई भी काम तब करता है जब उसको उसका फायदा साफ नजर आए अगर उसको फायदा क्लियर नहीं होगा तो फिर वह काम भी नहीं कर पाता इसलिए यहाँ पर आपको इन्वेस्टमेंट के कुछ फायदे बता रहे हैं जिससे कि बात सही से समझ में आ जाए।

इन्वेस्टमेंट करने का बहुत ही ज्यादा फायदा है जैसा कि आगे हम बता भी चुके हैं। अब कुछ और फायदे के बारे में बात कर लेते है।

  • अपनी जरूरतों को अच्छी तरह पूरा कर पाएंगे और किसी के आगे हाथ नहीं फैलाना पड़ेगा
  • जरूरत पड़ने पर हम किसी की मदद कर पाएंगे।
  • समाज को तरक्की की ओर ले कर जा सकेंगे।
  • सामाजिक कामों में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले सकेंगे और लोगों की मदद कर पाएंगे
  • वक्त के साथ महंगाई भी बढ़ती रहती है इन्वेस्टमेंट से हम महंगाई को पीछे कर सकते हैं वरना महंगाई हमें पीछे कर देगी।

इन्वेस्टमेंट कैसे करे

अब बात करते हैं कि इन्वेस्टमेंट कैसे करें अभी तक आप इन्वेस्टमेंट कितने तरह का होता है यह तो समझ ही गए होंगे तो अब उसको कैसे करना है यह जानते हैं।

इन्वेस्टमेंट करने में कोई खास बात नहीं है यह तो बहुत ही आसान है हो सकता है कि आप पहले से कर भी रहे हो बस उसको समझ नहीं रहे थे।

इन्वेस्टमेंट करने का कुछ तरीका यहां पर दे रहे हैं।

  • गरीबों और बेसहारा लोगों की मदद करके आप आखिरत का इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं।
  • अपने करीबी रिश्तेदार दोस्त और रिलेटिव जो कि जरूरतमंद हो उनकी मदद इस तरीके से करना कि उनको एहसास ना हो यानी कि उनके ऊपर एहसान ना ला दे यह भी एक बहुत अच्छा इन्वेस्टमेंट होगा इससे जब आप वह कभी जरूरत पड़ेगी तो आपकी भी इसी तरह मदद होगी।
  • हमेशा कुछ न कुछ सीखते रहें और अपनी Skill को बढ़ाते रहें अपने ऊपर इन्वेस्ट करना सबसे अच्छा इन्वेस्टमेंट है जब आप कुछ सीखेंगे तो फिर उसको अप्लाई करने के बाद और ज्यादा फायदा उठा पाएंगे।
  • गोल्ड शेयर बाजार और रियल स्टेट में इन्वेस्ट करना अब बहुत ही आसान हो चुका है आप ऑनलाइन भी इसमें इन्वेस्ट कर सकते हैं इसकी पूरी तहसील आगे आने वाले आर्टिकल में आपको बताएंगे।
  • अपनी फिजूलखर्ची और अगर कोई नशा जैसे कि गुटखा सिगरेट वगैरा करते हैं तो उसको रोके और उसी पैसे को इन्वेस्ट कर दें जिससे कि वह आपके लिए नुकसान के बजाय फायदेमंद साबित हो सके।

इन्वेस्टमेंट किन लोगों को करना चाहिए

वैसे तो इन्वेस्टमेंट सभी लोगों को करना चाहिए लेकिन जो लोग चाहते हैं की एक अच्छी जिंदगी जी सकें और इज्जतदार जिंदगी जी सकें तो उनको इन्वेस्टमेंट करना बहुत ही ज्यादा जरूरी है कोई भी पैसा कमा तो लेता है लेकिन वह फिजूलखर्ची में या और कोई गलत चीज में उसको बर्बाद कर लेता है।

अगर वह उसका इन्वेस्टमेंट कर दे तो फिजूलखर्ची से भी बच जाएगा और उसको किसी के आगे हाथ भी नहीं फैलाना पड़ेगा।

जो लोग शादीशुदा है और उनके बच्चे हैं खास करके बेटी तो उनको इन्वेस्टमेंट जरूर करना चाहिए क्योंकि वह देख ही रहे हैं की बेटी की शादी में कितना ज्यादा खर्चा होता है इसके अलावा पढ़ाई लिखाई पर भी बहुत ज्यादा खर्चा होता है।

इन सभी खर्च को पूरा करने के लिए काफी पहले से इन्वेस्टमेंट शुरू कर देना चाहिए।

निष्कर्स

इन्वेस्टमेंट करना फायदा ही फायदा है नुकसान बहुत कम है। जितना हो सके बचत करें फिजूलखर्ची रोके और उसको इन्वेस्ट करें फिर चाहे वह गरीबों की मदद करके हो या फिर उसको प्रॉपर्टी खरीद कर हो या शेयर बाजार में लगाकर हो इन्वेस्टमेंट जरूर करें।

अगर आपने पूरा आर्टिकल पढ़ा होगा तो आप इन्वेस्टमेंट के बारे में सभी बातें समझ गए होंगे अगर नहीं पढ़ा है तो यहां पर कुछ खास पॉइंट आपको बता देते हैं।

इन्वेस्टमेंट करना वक्त की जरूरत है अगर आप पहले से कर रहे हैं तो बहुत ही अच्छा और अगर नहीं कर रहे हैं तो शुरू कर दें क्योंकि इसमें जितना लेट करेंगे उतना ही कम फायदा होगा।

अगर आपको इस आर्टिकल में कुछ सीखने को मिला तो आप इस आर्टिकल को अपने जानने वालों के साथ भी शेयर करें और उनको भी बताएं।

Copyright

Comments